Power of positive tinking – सकारात्मक सोच की शक्ति (hindi): पावर ऑफ पॉजिटिव थिंकिंग ( hindi motivation) (Hindi Edition)


Value: ₹ 70.00
(as of Jul 24,2021 03:28:33 UTC – Particulars)


1. सकारात्मक सोच सफलता की शर्त है ‘सारी संपत्ति मस्तिष्क में रहती है। आपका मानसिक नज़रिया ही अमीरी या ग़रीबी को तय करता है। दौलत के बारे में सोचेंगे, तो दौलत मिलेगी। ग़रीबी के बारे में सोचेंगे, तो ग़रीबी मिलेगी।’ -जोसफ़ मर्फ़ी अगर कोई आपसे कहे कि सफल होने का एक ऐसा शॉर्टकट है, जिसमें आपका एक भी पैसा ख़र्च नहीं होगा, बिलकुल भी मेहनत नहीं करनी होगी और उसमें आपके सफल होने की गारंटी भी है, तो आप क्या कहेंगे? यदि आप सामान्य लोगों जैसे हैं, तो आप कहेंगे, हमें भी बताओ। यह शॉर्टकट केवल दो शब्दों का है, ‘सकारात्मक सोच!’ और जैसा मैंने आपसे वादा किया था, इसमें आपका एक भी पैसा ख़र्च नहीं होगा और ज़रा भी मेहनत नहीं करनी होगी।

शॉर्टकट बस इतना सा है कि आप सफलता के विचार अपने मन में लबालब भर लें। असफलता का एक भी विचार अपने मन में दाख़िल न होने दें। अपने दिलोदिमाग़ की पहरेदारी उतनी ही मुस्तैदी से करें, जिस तरह हिंदुस्तान के जांबाज़ सैनिक अपनी सरहदों की करते हैं। अगर ग़लती से कोई असफलता का विचार आपके मन में दाख़िल हो भी जाए, तो उसे पकड़ लें, उसे मार डालें, जैसे हमारे सैनिक करते हैं। और फिर उस असफलता के विचार की जगह पर सफलता के विचार को दोबारा रख लें। हमारा मस्तिष्क एक समय में एक ही तरह के विचार सोच सकता है, इसलिए अगर आप सकारात्मक विचार सोच रहे हैं, तो इसका मतलब यह है कि नकारात्मक विचार उसी समय आपके मस्तिष्क में मौजूद नहीं रह सकता। जिस भी क्षेत्र में आपको सफलता चाहिए, उसके बारे में सफलता के विचार अपने मन में इतने भर लें कि किसी दूसरी चीज़ के लिए जगह ही नहीं बचे। इन विचारों से इक्कीस दिन तक अपने मन को लबालब रखें और अपनी सफलता की तस्वीर देखते रहें, जिस तरह ऑलंपिक खिलाड़ी देखते हैं। सफलता की तस्वीर देखना ऑलंपिक खिलाड़ी के प्रशिक्षण का एक अहम हिस्सा होता है। इसी तरह आप भी अपनी बनाई हुई तस्वीर या फ़िल्म में ख़ुद को उस क्षेत्र में सफल होते देखें और यह तस्वीर पूरी शिद्दत से इक्कीस दिनों तक देखते रहें। इक्कीस दिनों तक क्यों? क्योंकि मैक्सवेल माल्ट्ज ने अपनी पुस्तक ‘साइको-साइबरनेटिक्स’ में बताया है कि नई आदत डालने में इतना वक़्त लगता है। इस तस्वीर में आप ख़ुद को उस क्षेत्र में सफल होते देखें, मनचाही उपलब्धि हासिल करते देखें और विजय के अतिशय आनंद को महसूस करें। ध्यान रखे, आपको सुबह से रात तक कम से कम हर घंटे यह तस्वीर देखनी है, ताकि यह तस्वीर आपके चेतन मन से अवचेतन मन तक पहुँच जाए। जैसे एंटीबायोटिक टैबलेट के साथ होता है, यहाँ भी एक भी डोज़ चूकने से परिणामों पर फ़र्क़ पड़ सकता है। लेकिन अच्छी ख़बर यह है कि सफल होने के लिए आपको बस इतना ही करना है। बाक़ी सब अपने आप होगा, क्योंकि इसकी बदौलत आप ऐसे काम करने के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित होंगे, जिनसे आप अपने चुने हुए क्षेत्र में सचमुच सफल होने लगेंगे। बस इतना ध्यान रखें कि अगर आपका लक्ष्य बड़ा है, तो उस तक पहुँचने में इक्कीस दिनों से ज़्यादा समय लगेगा, लेकिन सही दिशा में प्रगति शुरू हो जाएगी। और एक बार जब प्रगति शुरू हो जाएगी, तो समय आने पर आप अपने लक्ष्य तक पहुँच जाएँगे।
See also  The Holy Quran with Kanzul Iman in Roman Script [Hardcover] Translated by Imam Ahmad Raza Khan

iamin.in participates in the Amazon Services LLC Associates Program, an affiliate advertising program designed to provide a means for sites to earn advertising fees by advertising and linking to Amazon.in. Amazon and the Amazon logo are trademarks of Amazon.in, Inc. or its affiliates.iamin.in is a participant in the Amazon Services LLC Associates Program, an affiliate advertising program designed to provide a means for sites to earn fees by advertising and linking to Amazon.in. Some links on this site will lead to a commission or payment for the site owner.