Pratighat (Hindi Edition)


Worth: ₹ 99.00
(as of May 11,2021 13:13:38 UTC – Particulars)


अंकुर रोहिल्ला दौलतमंद, आशिक मिजाज, बदनीयत शख्स था। उसकी निगाहें अपने ही किरायेदार की नाबालिग बेटी अफसाना पर टिकी हुई थीं। फिर एक रात लड़की अपने कमरे से गायब हो गयी। बाप को शक था कि बेटी के गायब होने में अंकुर का कोई न कोई हाथ जरूर था। वह फरियाद लेकर महा करप्ट पुलिसिये निरंकुश राठी के पास पहुंचा। राठी ने उसकी बेटी को खोजने के लिए उंगली भी नहीं हिलाई होती, अगरचे कि कंप्लेन एक दौलतमंद शख्स के खिलाफ नहीं होती। फिर क्या था निरंकुश राठी एक बार फिर अपने सपनों को साकार करने की कोशिश में जुट गया। उसे तो एहसास तक नहीं था कि आगे उसका पाला एक ऐसे शख्स से पड़ने वाला था जिसके बारे में कोई नहीं जानता कि वह कब क्या कर गुजरेगा?

READ  Learn Hindi Through Oriya(Oriya To Hindi Learning Course) (With Youtube AV): Learn to Convey Your Ideas
iamin.in participates in the Amazon Services LLC Associates Program, an affiliate advertising program designed to provide a means for sites to earn advertising fees by advertising and linking to Amazon.in. Amazon and the Amazon logo are trademarks of Amazon.in, Inc. or its affiliates.iamin.in is a participant in the Amazon Services LLC Associates Program, an affiliate advertising program designed to provide a means for sites to earn fees by advertising and linking to Amazon.in. Some links on this site will lead to a commission or payment for the site owner.